Current Affairs in Hindi

जैसे की हम सब जानते ही की सिविल सेवा परीक्षा या कोई भी अन्य प्रतियोगी परीक्षा मे करंट अफेर्स मतलब की समसामयिकी / समकालीन घटनाओ का महत्व बहुत ही ज्यादा है. इस हिसाब से कोइ भी उम्मीदवार करंट अफेर्स के महत्व को कम नही आंक सकता. आजकल कोइ भी प्रतियोगी परीक्षा मे ज्यादातर प्रश्न करंट अफेर्स से पुछे जाते है, चाहे वह प्रत्यक्ष हो या फीर परोक्ष लेकिन इस विभाग से बहुत सारे प्रश्न पुछे जाते है यह पक्की बात है.

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा मे सामान्य अभ्यास प्रश्नपत्र 1 के अभ्यासक्रम को देखे तो उसमे साफ साफ लिखा है की, इस परीक्षा मे राष्ट्रीय और आंतरराष्ट्रीय महत्व की घटनाओ के बारे पुछा जायेगा.

इस बहुत ही महत्वपूर्ण विभाग की तैयारी के लिए हमे क्या करना चाहीए यह बात आजकल शायद सभी उम्मीदवार को पता ही होती है इसलिए हम यहा इस बारे मे बहुत ही कम और टू दी प्वाइन्ट मार्गदर्शन दे रहे है. हमे उम्मीद है की यह बाते परीक्षार्थीओ के जरुर काम आएगी.
करंट अफेर्स की तैयारी के लिए जरुरी सामग्री

समाचार पत्र - हम सब जानते ही है और हम सबने टॉपर के साक्षात्कार मे भी यह पढा है की समाचार पत्र / न्यूझपेपर इस परीक्षा के लिए कितना माइने रखता है. समाचार पत्र / अखबार मे घटनाओ का एक क्रम चलता है, और सभी घटनाए एक प्रवाह मे होती है. लेकिन इनमे घटनाओ की संपूर्णता नही होती. अखबारो मे पाया जाता है की तथ्य बिखरे हुए होते है.

समाचार पत्र मे कौन सा समाचार पत्र पढा जाये यह समस्या रहती है तो इस संदर्भ मे हम यह कह सकते है की एक राष्ट्रीय स्तर का और एक राज्य स्तर का अखबार पढना चाहीए.

राष्ट्रीय स्तर का अखबार - राष्ट्रीय स्तर के अखबार से आप को यह ज्ञात रहेगा की कौन-सी घटनाए प्रमुखता के साथ घट रही है. इससे घटनाओ के महत्व का अनुमान लगाना आसान रहेगा. साथ ही राष्ट्रीय स्तर के अखबारो मे उच्च गुणवत्तायुक्त संपादकीय और लेखो का संग्रह भी मिल जाता है जो किसी घटना का विश्लेषण करने मे बहुत ही उपयोगी है. राष्ट्रीय स्तर के अखबारो मे राष्ट्रीय और आंतरराष्ट्रीय स्तर के महत्वपूर्ण सम्मेलन एवं गोष्ठियां जो दिल्ली मे होती है, उनके बारे मे पर्याप्त सूचनाए मिल जाती है.

राज्य स्तर का अखबार - राज्य स्तर का अखबार भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए उपयोगी होता है, जैसे की राज्य सिविल सेवा परीक्षा या राज्य स्तर की कोइ प्रतियोगी परीक्षा. राज्य स्तर के अखबारो में देश की महत्वपूर्ण जानकारीया छोटे मुद्दो के रुप में होती है, साथो साथ राज्य की महत्वपूर्ण घटनाओ का सिलसिलेवार जानकारी होती है. यह अखबार आपके इन्टरव्यु मे काम आ सकता है क्युकि इन्टरव्यु / साक्षात्कार मे आपके राज्य मे बनी कोइ महत्वपूर्ण घटनाओ के बारे में पुछा जा सकता है.
  • पत्रिकाए
  • रेडियो और दूरदर्शन के समाचार
पत्रिकाए : शायद ही यह बन सकता है की पत्रिकाओ के महत्व के बारे मे कोइ उम्मीदवार अनजान हो. पत्रिकाए सिविल सेवा परीक्षा मे बहुत ही अहम भूमिका निभाती है. अखबार सभी न्यूज / माहिती को अलग अलग देती है लेकिन पत्रिकाए इन सभी समाचारो / तथ्यो को संकलित करके एक प्रवाह मे रुप मे प्रस्तुत करती है जिससे उम्मीदवार कोइ माहिती से सम्पूर्ण माहितगार बन सकता है.

एसा नही है की पत्रिकाए पढे और अखबार बिलकुल ही न पढे. उम्मीदवारो को यह सलाह दी जाती है की वह रोजाना अखबार जरुर पढे और महीने के आखीर मे पत्रिका भी पढे. एसा करने से पुरे महीने के सभी समाचारो को दोहराया जा सकता है, एक तरह से कह सकते है की रिविजन हो जायेगा. और एसे समाचार भी पढे जायेंगे जो अखबार मे नही थे, या फीर कही न कही हमसे नजरअंदाज हो गये थे.

कौन सी पत्रिका? : यह सवाल सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे सभी प्रत्याशी के मनमे होते ही है. इस बारे मे बहुत ही संक्षेप्त मे बात करे तो इस समय बाजार मे उपलब्ध कुछेक पत्रिकाए मे से कुछ टॉपर्स द्वारा सुझाइ गइ है. मेरे ख्याल से सभी टॉपर्स ने इन पत्रिकाओ के बारे मे कहा है इसलिए हमे इसे नजरअंदाज नही करना चाहीए. यह पत्रिकाए कुछ इस तरह है.
  • सिविल सर्विसीज क्रोनिकल (Civil Services Chronical)
  • कम्पीटीशन विझार्ड (Competition Wizard)

Sponsored Ads.